सखी मंडल ने बनाया हर्बल सैनिटाइजर

कोरोनावायरस के बचाव के लिए एक ओर सरकार अपना पूरा प्रयास कर रही है, तो वहीं खूंटी के सखी मंडल की दीदियों द्वारा भी लोगों को स्वस्थ रखने के लिए सेनिटाइजर का निर्माण किया जा रहा है। खूंटी जिले के पानी कड़ा ग्राम में स्थित अनीगड़ा ग्रामीण सेवा केंद्र में जिला प्रशासन एवं जे.एस.एल.पी.एस की मदद से सखी मंडल की आठ दीदियों ने इस रचनात्मक सोच को धरातल पर उतारा है।

सखी मंडल की दीदियां राज्य के विभिन्न शहरों से सामानों का संग्रह करने के पश्चात निर्धारित मात्रा में सामग्रियों का मिश्रण बनाकर सेनिटाइजर की पैकेजिंग और बिक्री कर रहीं है। महिलाओं द्वारा इस सैनिटाइजर में  लेमन ग्रास या तुलसी का तेल भी मिलाया जा रहा है। इनके औषधीय गुणों की वजह से एक तरफ विषाणुओं से निपटने में मदद मिलेगी और साथ ही हर्बल सैनिटाइजर होने से साइट इफेक्ट का खतरा भी नहीं होगा।

 खूंटी जिला में अब तक कुल 225 लीटर सैनिटाइजर का उत्पादन किया जा चुका है, जिसकी पैकेजिंग तुलसी एवं लेमन ग्रास वाले सैनिटाइजर के 100 मिली,  250 मिली और 500 मिली के अलग अलग प्रकार के बोतलों में की गई है।  यहां उत्पाद किए गए सैनिटाइजर में अल्कोहल की मात्रा 72%, ग्लिसरीन की मात्रा 13%, डिस्टिल्ड पानी की मात्रा 13% और तुलसी अथवा  लेमन ग्रास की मात्रा 2% है। आने वाले एक-दो दिनों में उत्पाद को बढ़ाकर 1000 लीटर करने का लक्ष्य रखा गया है। इन्हें आम लोगों तक पहुंचाने के लिए सुबह 8:00 से 11:00 बजे के बीच विभिन्न स्थानों पर रोड किनारे स्टॉल लगाए जाने की योजना भी बनाई जा रही है।