सिर दर्द का एक बेवजह कारण

आज कल युवाओ मे सिर दर्द या माइग्रेन की समस्या आम हो गई है हर कोई इस समस्या से तंग दु:खी है । आज कल ये बिमारी छोटे बच्चो मे भी देखने को मिल रही है। शुरूआती दौर में ये बिमारी बड़ो तक ही सीमित थी। पहले सिर दर्द की बिमारी का कारण कुछ और हुआ करता जैसे तेज धूप मे जाना, सदी खाँसी आदि पर अब इसका कारण हमारे रोज की लाईफ मे इस्तेमाल हो रहा मोबाईल फोन है। बड़े तो बड़े बच्चे भी मोबाइल फोन का खूब यूज कर रहे है। देर तक जाग कर फोन इस्तेमाल करना सेहत के लिए हानिकारक बनता जा रहा है। मोबाइल फोन मे ज्यादा रौशनी होने के कारण इसका सीधा असर आँखो पर पड़ रहा है। आँखो से और सिर के जितना नजदीक फोन होगा उतना ही असर हमारी आँखो और सिर पर पड़ेगा।

आपने कभी ध्यान दिया जब आप लगातार फोन का इस्तेमाल कर रहे होते है तब बीच मे आप आपनी पलको को बंद करते है थोड़े से आराम के लिए तो वो हल्के से दर्द होती है। ऐसा क्यों होता है कभी आपने सोचा है इसका कारण आँखो की थकान है। चाहे आप फोन की लाइट कम भी कर दे फोन को यूज करते समय फिर भी ये समस्या होंगी। सिर दर्द की इस समस्या से समाधान तब ही मिल सकता है जब आप फोन से थोड़ा बहुत दूरी बना ले।

  • सोने से पहले फोन से दूरी बना ले या उस कमरे मे फोन को ना रखे जहाँ आप सोते हो।
  • फोन का उपयोग जब भी करे जब आपको फोन की जरुरत हो बिना जरुरत के फोन को हाथ मे ना ले।
  • बच्चो को फोन कम से कम उपयोग करने दे जितना हो सके फोन से उनकी दूरी बनाये रखे।
  • फोन का उपयोग अधंरे कमरे मे कभी ना करे फोन का यूज करते समय कमरे मे कोई ना कोई बल्ब या टूयूबलाइट जरुर जलाये उससे आपके आँखो पर फोन की रौशनी का असर कम पड़ेगा।
  • फोन का उपयोग करते समय पलको को बार बार झपकाये
  • सूरज की किरणो मे फोन का उपयोग कम करे
  • कान मे ईयरफोन डाल कर गाना भी कम से कम सुने, कभी भी कानों में ईयरफोन लगे ना रहने दे ऐसा करने से आपके काने मे दर्द होगा और इसका सीधा आपके सिर पर पड़ेगा।
  • जितना हो सके ज्यादा से ज्यादा अपनी आँखो को अराम दे ।
  • यही कुछ छोटी छोटी बाते है जिससे आप अपनी आँखों को सुरक्षित रख सकते है ।

सिम्मी कौल