विधानसभा में पांचवें दिन भी हंगामा

झारखंड विधानसभा में लगातार पांचवें दिन बाबूलाल मरांडी को नेता प्रतिपक्ष बनाने के मुद्दे पर हंगामा हुआ। गुरुवार को भाजपा विधायक गले में पोस्‍टर-बैनर लटका कर पहुंचे। मेन गेट पर प्रदर्शन के बाद ये लोग सदन के वेल में आकर नारेबाजी करने लगे। गुरुवार को बीजेपी विधायकों का फोकस इरफान अंसारी के विवादित बयान पर था। बीजेपी विधायक इरफान अंसारी के असंसदीय बयान की वजह से उन पर कार्रवाई किये जाने की मांग कर रहे थे। हंगामा बढ़ता देख स्‍पीकर रवींद्र नाथ महतो ने विधानसभा की कार्यवाही दो बजे तक के लिए स्थगित कर दी।

भाजपा विधायकों ने इसी मुद्दे पर दूसरी पाली में भी हंगामा किया। वे वेल में आए और करीब 25 मिनट तक हंगामे के बाद सदन का बहिष्कार कर दिया। इसके बाद सदन में विपक्ष की अनुपस्थिति में बजट पर चर्चा हुई।

भाजपा के मुताबिक सत्ताधारी झामुमो, कांग्रेस और राजद के दबाव में विधानसभा अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी को विपक्ष का नेता नहीं घोषित कर रहे हैं। भाजपा विधायक विरंची नारायण ने आरोप लगाया कि वास्तव में सरकार राज्यसभा की दो सीटों के लिए होने वाले चुनावों में हेर-फेर करने और बाबूलाल मरांडी की विधानसभा सदस्यता समाप्त कराने की फिराक में है।