अगवा करने के बाद पूर्व सचिवालयकर्मी के पुत्र-पुत्री की पत्थर से कूच कर हत्या

गुमला,26 अक्टूबर : पूर्व सचिवालयकर्मी बिरेंद्र भगत के पुत्र संजीव भगत (30) व पुत्री ममता कुमारी (20) की पत्थर से कूच कर हत्या कर दी गयी। घटना जिले के घाघरा थाना क्षेत्र अंतर्गत चुंदरी नवाटोली बाजार टांड़ के समीप हुई। दोनों भाई-बहन  रविवार की देर रात अपने बलेनो कार से लोहरदगा की ओर जा रहें थे। घाघरा व कोटामाटी गांव के बीच अज्ञात अपराधियों ने वाहन रूकवा कर  भाई-बहन का अगवा कर अपने बेलोरो में बैठा कर चुंदरी नवाटोली बाजारटांड़ के समीप ले गये और फिर दोनों की पत्थर से कूच कर हत्या कर दी। ममता के शव को एक डोभा में फेक दिया गया। वहीं संजीव का शव एक गड्ढे में से बरामद किया गया। इस हत्याकांड के पीछे आपसी रंजिश की संभावना व्यक्त की जा रही है। इधर घटना की सूचना मिलते ही गुमला के पुलिस अधीक्षक हरदीप पी जनार्दनन, एसडीपीओ मनीष चंद्र लाल, इंस्पेक्टर मनोज कुमार व थाना प्रभारी सुधीर साहु घटनास्थल पहुंचे और स्थिति का मुआयना किया।  

जानकारी के अनुसार संजीव अपनी दोनो बहनों ममता व संगीता के साथ अपने पैत्रृक गांव कोटामाटी दसई करमा पर्व मनाने के लिए आया था। फिर संगीता को वहीं छोड़ कर संजीव व ममता अपने बलेनो गाड़ी से वर्तमान घर नवाडीह पाड़हा जिला लोहरदगा के लिए निकल पड़ें। इसी दौरान दोनो का अपहरण कर लिया गया। बलेनो रूक्की कुसुमटोली के समीप एक गड्ढे में पड़ी मिली। मृतक के पिता बिरेंद्र भगत पूर्व सचिवालय कर्मी हैं और माता शिक्षिका हैं। चाचा बालकिशुन भगत भी सूचना मिलने के बाद घटनास्थल पहुंचे और दोनो शवों का शिनाख्त किया। उन्होंने बताया कि हत्या के पूर्व संजीव का मोबाईल पर किसी से कहासुनी हुई थी। उनलोगों को भी किसी अनहोनी की आशंका होने लगी। तब उन्होंने लोहरदगा थाना में लिखित शिकायत की। वहां की पुलिस ने घाघरा थाना का मोबाईल नंबर थमा दिया। यहां की पुलिस ने यदि त्वरित कार्रवाई करते हुए घाघरा पुलिस को सूचित किया होता तो यह घटना टल सकती थी। उन्होंने घाघरा थाना प्रभारी को भी मोबाईल किया। मगर उन्होंने हमारा कॉल रिसीव नहीं किया। ऐसा प्रतीत होता है कि लोहरदगा से ही अपराधी पीछा करते हुए आयें थे और मौका देख कर दोनो की अगवा करने के बाद हत्या कर दी। ममता रांची में बीए की छात्रा थी। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गयी है। वहीं पुरे ईलाके में भाई-बहन की हत्या चर्चा का विषय बना हुआ है।