उग्रवादियों पर शिकंजा, एनआईए ने टीपीसी उग्रवादी की अचल संपत्ति की बिक्री पर लगाई रोक

एनआईए ने टीपीसी के जोनल कमांडर विकास गंझू की अचल संपत्ति की बिक्री पर रोक लगा दी है। इस बाबत एनआईए ने जिला प्रशासन को एक पत्र भेजा है। चतरा जिले के कुंदा थाना क्षेत्र के मरगाड़ा गांव निवासी विकास गंझू उर्फ वरुण उर्फ अविनाश उर्फ दशरथ गंझू को पलामू जिले के पांकी थाना में 2017 में दर्ज उग्रवादी हिंसा के मामले और 2018 में एनआईए की ओर से दर्ज मामले में नामजद अभियुक्त बनाते हुए उसके विरुद्ध कार्रवाई की प्रक्रिया की जा रही है। जोनल कमांडर की चल और अचल संपत्ति की पड़ताल करते हुए एनआईए ने उसकी जमीन की खरीद-बिक्री और हस्तांतरण पर रोक लगा दी है। 

जानकारी के अनुसार जोनल कमांडर की पत्नी जयंती देवी इस जमीन को बेचने की तैयारी में थी। लेकिन एनआईए का पत्र 19 दिसंबर को मिलते ही जिला प्रशासन ने कार्रवाई शुरू कर दी गई है।