बाबा बैद्यनाथ मंदिर खोलने की मांग, सुप्रीम कोर्ट ने मामले पर समय से पहले सुनवाई करने से किया इनकार

कोरोना महामारी के चलते राज्यों में अभी धार्मिक और पर्यटन स्थलों को बंद ही रखा गया है। लोगों को इन स्थानों पर आने की अभी अनुमति नहीं है। कोरोना के दैनिक मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए झारखंड सरकार ने श्रद्धालुओं के लिए श्रावण मास में भी बाबा बैद्यनाथ मंदिर को नहीं खोला। सरकार के फैसले के विरुद्ध बैद्यनाथ मंदिर और वासुकीनाथ मंदिर खोलने की मांग को लेकर कुछ धार्मिक संगठनों ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। संगठनों की ओर से सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई।

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया। मंदिरों को खोलने की मांग पर जल्द सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट ने साफ इनकार कर दिया। मुख्य न्यायाधीश एनवी रमण ने कहा कि मामला प्रक्रिया के तहत तय तारीख पर सुना जाएगा। इसपर तुरंत सुनवाई जरूरी नहीं है।