बरकाकाना रेलवे साइडिंग पर ग्रामीणों का विरोध नहीं, विधायकों की रंगदारी है : विनोद किस्कू

रामगढ़, 05 दिसंबर : जिले के बरकाकाना रेलवे साइडिंग पर ग्रामीणों के विरोध से शुरू हुआ आंदोलन अब राजनीतिक रंग ले चुका है। इस मुद्दे पर रामगढ़ विधायक ममता देवी और बड़कागांव विधायक अंबा प्रसाद के समर्थन में खड़ी हो गई हैं। दूसरी ओर ट्रांसपोर्टिंग कंपनी के मालिक और झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिलाध्यक्ष विनोद किस्कू ने उन दोनों पर ही रंगदारी का आरोप लगा दिया है। पिछले 35 घंटों से बरकाकाना रेलवे साइडिंग पर लोडिंग और अनलोडिंग का काम ठप है। इस मुद्दे पर शुक्रवार की रात दोनों विधायकों ने ग्रामीणों के साथ बैठक की थी। साथ ही किस्को कंस्ट्रक्शन कंपनी को अल्टीमेटम दिया था कि जब तक स्थानीय विस्थापित ग्रामीणों की रोजगार की समस्या हल नहीं होती है, तब तक वह रेलवे साइडिंग पर काम शुरू नहीं होने देंगे।

शनिवार को कंपनी के मालिक और झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिलाध्यक्ष विनोद किस्कू बरकाकाना पहुंचे। यहां उन्होंने साफ तौर पर कहा कि बरकाकाना में किसी ग्रामीण का विरोध नहीं है। बल्कि दोनों विधायकों के द्वारा लोगों को उकसाया जा रहा है। लगातार उन्हें यह बताया जा रहा है कि रोजगार की समस्या को लेकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया है। लेकिन हकीकत यह है कि उनकी कंपनी लोगों को रोजगार दे रही है। इस मुद्दे पर विधायक ममता देवी और अंबा प्रसाद का कोई लेना देना नहीं है। लेकिन वे दोनों जिस रोजगार की बात कर रही हैं, उसे सिर्फ रंगदारी ही समझा जा सकता है। उन्होंने कहा कि जब उनकी कंपनी यहां काम करने के लिए आई थी, तब स्थानीय लोगों से बात हुई थी। उस वार्ता में पिछली कंपनी में काम कर रहे मजदूर और कर्मचारियों को रोजगार देने की बात कही गई थी। साथ ही जो भी कामगार हैं वह अभी भी काम कर रहे हैं। अब सिर्फ लोगों को उकसा कर यह बताया जा रहा है कि किसको कंस्ट्रक्शन कंपनी बाहर की है। लेकिन उनकी यह राजनीति अब नहीं चलने वाली है। उन्होंने कहा कि सरकार में कांग्रेस और जेएमएम एक साथ है। मैं दोनों विधायकों का विरोध नहीं कर रहा। लेकिन उनकी हरकतें जनता की समस्या दूर करने की नहीं बल्कि बढ़ाने की दिख रही हैं। रेलवे साइडिंग पर विनोद किस्कू के समर्थकों ने विधायक ममता देवी और अंबा प्रसाद के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। समर्थकों ने कहा कि उन दोनों को यहां लोगों की समस्या दूर करनी चाहिए थी। लेकिन वे ग्रामीणों की समस्या और बढ़ा रही हैं।